करवा चौथ व्रत, पूजा का शुभ मुहूर्त, विधि एवं समय – Karva Chauth Vrat Vidhi, Shubh Muhurat and Pooja Timings 2016

0
714

Karva Chauth 2016 ki Vrat Vidhi, Best Shubh Muhurat: Karwa Chauth is a pious festival that is celebrated by Hindu and Sikh women all over the world. Women keep fast on the occasion from sunrise to moonrise with a belief that their husbands will get safe and long lives. Nowadays, unmarried women also keep Karva Chauth fast for their  fiancés or desired husbands. It is a one-day festival for Womans, girls.<img cheap jerseys class=”aligncenter size-full wp-image-2314″ src=”http://www.thestatesman.co.in/wp-content/uploads/2016/10/Happy-Karwa-Chauth-2016-Wallpapers-Images-Greetings-download-Hd-4.jpg” alt=”happy-karwa-chauth-2016-wallpapers-images-greetings-download-hd-4″ width=”520″ height=”282″ srcset=”http://www.thestatesman.co.in/wp-content/uploads/2016/10/Happy-Karwa-Chauth-2016-Wallpapers-Images-Greetings-download-Hd-4.jpg 520w, http://www.thestatesman.co.in/wp-content/uploads/2016/10/Happy-Karwa-Chauth-2016-Wallpapers-Images-Greetings-download-Hd-4-300×163.jpg 300w” sizes=”(max-width: 520px) 100vw, 520px” />

Marriage is a lifetime commitment bond between two imperfect people which is made possible by the God himself, held together with limitless love, unshakeable faith and undying devotion for one another.

Our scriptures hold this institution sacred. Thus, all married females, specifically in North India fast one complete day without even a drop of water for the longevity of their husband.

This festival with passage of time has been gaining popularity by each passing year. It is now even undertaken by soon to be married females for their fiance. happy-karva-chauth-2016-wishes-images-fb-whatsapp-status-quotes-4

Muhurat of Karva Chauth

Karwa Chauth falls on the fourth day of the dark-fortnight, or Krishna Paksh, of the month of Kartik. The shubh muhurat for the evening puja begins at 5:42 pm to 6:59 PM on 19th October, 2016. The moon shall rise at 8:50 pm on this auspicious day.happy-karwa-chauth-2016-wallpapers-images-greetings-download-hd-1

Karva Chauth Pooja Timings 2016

Karwa Chauth Puja Muhurat is from: 18:00 to 19:19 on 19th October

Duration of Cheap china Jerseys the Muhurat: 1 Hour 19 Mins

Duration of the Muhurat: 1 Hour 19 Mins

Moonrise will take place on Karwa Chauth Day at: 20:28

Chaturthi Tithi Begins at: 12:17 on 18th October 2016
Chaturthi Tithi Ends at:  09:02 on 19th October 2016

Benefits of Karva Chauth Puja

‘Karwa’ literally stands for a pot and ‘chauth’ means fourth. Married women worship Lord Shiva and his family including Lord Ganesha for the long life of their husband.<img class="aligncenter size-full wp-image-2317" src="http://www.thestatesman.co.in/wp-content/uploads/2016/10/Karwa-Chauth-HD-Wallpapers-Greetings-Images-2016-1.jpg" alt="karwa-chauth-hd-wallpapers-greetings-images-2016-1" ray bans sale width=”1000″ height=”700″ srcset=”http://www.thestatesman.co.in/wp-content/uploads/2016/10/Karwa-Chauth-HD-Wallpapers-Greetings-Images-2016-1.jpg 1000w, http://www.thestatesman.co.in/wp-content/uploads/2016/10/Karwa-Chauth-HD-Wallpapers-Greetings-Images-2016-1-300×210.jpg 300w, http://www.thestatesman.co.in/wp-content/uploads/2016/10/Karwa-Chauth-HD-Wallpapers-Greetings-Images-2016-1-768×538.jpg 768w, http://www.thestatesman.co.in/wp-content/uploads/2016/10/Karwa-Chauth-HD-Wallpapers-Greetings-Images-2016-1-100×70.jpg 100w, http://www.thestatesman.co.in/wp-content/uploads/2016/10/Karwa-Chauth-HD-Wallpapers-Greetings-Images-2016-1-696×487.jpg 696w, http://www.thestatesman.co.in/wp-content/uploads/2016/10/Karwa-Chauth-HD-Wallpapers-Greetings-Images-2016-1-600×420.jpg 600w” sizes=”(max-width: 1000px) 100vw, 1000px” />

Products to perform Karva Chauth puja

It is the most important Hindu Festival celebrating marriage as a divine institution. The rituals include:

 

  • Preparations for the festival begin few days in advance as bangles, mehndi, bindiya, jewellery, Mangal Sutra, all are revered and worn by the Married females.
  • Womenfolk wake up before sunrise custom jerseys to eat a small portion of food as prasad called ‘sargi’ which is traditionally given by the mother-in-law.

 

 

  • This is a strong fast where drinking water is also prohibited.
  • Women dress up in all finery in the evening to perform the Karwa puja together.

 

 

  • The fast is broken only after viewing the moon at night with the husband’s face.
  • Painted pots or ‘karwas’ filled with bangles, bindiya, cosmetics, etc. May also be exchanged amongst the women in certain parts.

 

करवा चौथ व्रत की सम्पूर्ण पूजन विधि और मुहूर्त

पति की लम्बी उम्र की कामना करने हेतु कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को रखा जाने वाला व्रत करवा चौथ के नाम प्रसिद्ध है। इस दिन oakley outlet विवाहित स्त्रियां अपने सुहाग की रक्षा करने के लिए कठोर तप स्वरूप निर्जला व्रत रखकर अपनी सहनशक्ति व त्याग का परिचय देती है। इस दिन विवाहित स्त्रियां अपने सुहाग की रक्षा करने के लिए कठोर तप स्वरूप निर्जला व्रत रखकर अपनी सहनशक्ति व त्याग का परिचय देती है।

शिव, पार्वती, कार्तिकेय, गणेेश तथा चंद्रमा का पूजन

करवा चौथ के व्रत में शिव, पार्वती, कार्तिकेय, गणेेश तथा चंद्रमा का पूजन करना चाहिए। चंद्रोदय के बाद चंद्रमा को अर्घ्य देकर पूजा होती है। पूजा के बाद मिट्टी के करवे में चावल, उड़द की दाल, सुहाग की सामग्री रखकर सास या सास की उम्र के समान किसी सुहागिन के पांव छूकर सुहाग सामग्री भेंट करनी चाहिए।

करवा चौथ व्रत की पूजन सामग्री-

कुंकुम, शहद, अगरबत्ती, पुष्प, कच्चा दूध, शक्कर, शुद्ध घी, दही, मेंहदी, मिठाई, गंगाजल, चंदन, चावल, सिन्दूर, मेंहदी, महावर, कंघा, बिंदी, चुनरी, चूड़ी, बिछुआ, मिट्टी, चॉदी, सोने या पीतल आदि किसी भी धातु का टोंटीदार करवा व ढक्कन, दीपक, रुई, कपूर, गेहूँ, शक्कर का बूरा, हल्दी, पानी का लोटा, गौरी बनाने के लिए पीली मिट्टी, लकड़ी का आसन, छलनी, आठ पूरियों की wholesale Jerseys अठावरी, हलुआ, दक्षिणा के लिए रूपये।

शिव-पार्वती की पूजा का विधान

व्रत वाले दिन ब्रह्म मुहूर्त में उठ कर स्नान कर स्वच्छ कपड़े पहनकर श्रृंगार कर लें। इस अवसर पर करवा की पूजा-आराधना कर उसके साथ शिव-पार्वती की पूजा का विधान है क्योंकि माता पार्वती ने कठिन तपस्या करके शिवजी को प्राप्त कर अखंड सौभाग्य प्राप्त किया था इसलिए शिव-पार्वती की पूजा की जाती है।

करवा चौथ के दिन चंद्रमा की पूजा का धार्मिक और ज्योतिष दोनों ही दृष्टि से महत्व है। व्रत के दिन प्रातरू स्नानादि करने के पश्चात यह संकल्प बोल कर करवा चौथ व्रत का आरंभ करें।

करवा चौथ पूजन विधि

  • नारद पुराण के अनुसार इस दिन भगवान गणेश की पूजा करनी चाहिए। करवा चौथ की पूजा करने के लिए बालू या सफेद मिट्टी की एक वेदी बनाकर भगवान शिव- देवी पार्वती, स्वामी कार्तिकेय, चंद्रमा एवं गणेशजी को स्थापित कर उनकी विधिपूर्वक पूजा करनी चाहिए।
  • व्रत के दिन प्रातः स्नानादि करने के पश्चात यह संकल्प बोलकर करवा चौथ व्रत का आरंभ करें। पूजन के समय निम्न मन्त्र- ”मम सुखसौभाग्य पुत्रपौत्रादि सुस्थिर श्री प्राप्तये चतुर्थी व्रतमहं करिष्ये।
  • सांयकाल के समय, माँ पार्वती की प्रतिमा की गोद में श्रीगणेश को विराजमान कर उन्हें लकड़ी के आसार पर बिठाए। मां पार्वती का सुहाग सामग्री आदि से श्रृंगार करें। भगवान शिव और माँ पार्वती की आराधना करें और करवे में पानी भरकर पूजा करें। सौभाग्यवती स्त्रियां पूरे दिन र्निजला व्रत रखकर कथा का श्रवण करें। तत्पश्चात चंद्रमा के दर्शन करने के बाद ही पति द्वारा अन्न एवं जल ग्रहण करें।

चन्द्र को अर्घ्य देने का मुहूर्त

प्राचीन मान्यताओं के अनुसार करवा चौथ के दिन शाम के समय चन्द्रमा को अर्घ्य देकर ही व्रत खोला जाता है।
वर्ष 2016 में करवा चौथ 19 अक्टूबर को मनाया जायेगा। पूजा का शुभ मुहूर्त शाम 05 बजकर 46 मिनट से लेकर 06 बजकर 50 मिनट तक। करवा चौथ के दिन चन्द्र को अर्घ्य देने का समय रात्रि 08.50 बजे है।

Karwa Chauth 2016 shubh muhurt timing, Pehla karwa chauth kya kare

करवा चौथ का त्यौहार कार्तिक माह की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है। इस पर्व का सुहागन स्त्रियों के लिए बड़ा महत्त्व है। माना जाता है जो स्त्री पूरी श्रद्धा से इस व्रत को सम्पूर्ण करती है उसके पति की आयु में वृद्धि होती है और उसे जन्मो तक सुखी जीवन का आशीर्वाद मिलता है। करवा चौथ का व्रत सूर्योदय से पूर्व प्रारंभ होकर चन्द्रमा के दर्शन के पश्चात सम्पूर्ण होता है।


(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});


<ins class="adsbygoogle"
style="display:inline-block;width:200px;height:90px"
data-ad-client="ca-pub-9821636354599540"
fake ray bans data-ad-slot=”2821933119″>

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

गांव हो या शहर सभी की सुहागन स्त्रियां करवा चौथ के व्रत को बड़े उत्साह के साथ रखती है। कहते है इस दिन भालचंद्र गणेश की अर्चना करने से पति को दीर्घायु और अखण्ड सौभाग्य का आशीर्वाद मिलता है। हिन्दू धर्म में इस दिन सभी सुहागन स्त्रियां निर्जला व्रत रखती है अर्थात खाना तो दूर उस दिन उन्हें पानी की बून्द तक पीने को नही दी जाती।

कुछ  महिलाएं चंद्रमा को अर्क और प्रसाद अर्पण करने के बाद ही भोजन करती है और अपना व्रत खोलती है। जबकि कुछ सूर्य अर्क के बाद ही चाय आदि पी लेती है। धर्मानुसार देखा जाये तो इस व्रत को अपने परिवार में चली आ रही परंपरा के अनुसार ही रखना चाहिए। अर्थात जिस प्रकार आपके बड़े इस व्रत को करते आये है उसी प्रकार आप भी करिये।

हिन्दू धर्म में मनाये जाने वाले इस त्यौहार की विशेषता ये है की इसे केवल सुहागन स्त्रियां ही मनाती है। वैसे तो अधिकतर स्त्रियां इस व्रत के बारे में जानती है लेकिन कुछ है जिनके इसके बारे में सम्पूर्ण जानकरी नहीं है क्योकि ये उनका पहला करवा चौथ है। इसीलिए आज हम आपको करवा चौथ की जानकारी, शुभ मुहूर्त और तैयारी सभी की जानकारी देने जा रहे है। हमें उम्मीद है ये जानकारी आपके लिए सहायक सिद्ध होगी।

2016 में करवा चौथ का शुभ मुहूर्त (Karwa Самовосстанавливающийся Chauth 2016 shubh muhurt) :- 

वर्ष 2016 में करवा चौथ का त्यौहार 19 अक्टूबर 2016, बुधवार के दिन मनाया जायेगा।  इस वर्ष करवा cheap nfl jerseys चौथ पूजा का शुभ मुहूर्त सायं 05:43 से सायं 06:59 बजे तक का है।

करवा चौथ के दिन चाँद निकलने का समय = रात्रि 08:51 बजे।

2016 में कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि दिनांक 18 अक्टूबर 2016, मंगलवार रात्रि 10:47 बजे से प्रारंभ होकर दिनांक 19 अक्टूबर 2016, बुधवार सायं 07:32 बजे समाप्त होगी।

करवा चौथ का अर्थ :-

करवा चौथ का व्रत सुहागन स्त्रियों द्वारा किया जाता है। jisme करवा का अर्थ है “मिटटी का घड़ा” और चौथ का अर्थ है “चतुर्थी”। करवा चौथ के दौरान प्रयोग châu किये जाने वाला मिटटी का घड़ा कुशल सौभाग्य का प्रतीक होता है। जिस कारन इस दिन को करवा चौथ के नाम से जाना जाता है।

व्रत के दौरान कर्वे का विशेष महत्त्व होता है। नीचे करवा चौथ में की जाने वाली रस्मो की जानकारी दी गयी है। इसके द्वारा आप भी करवा चौथ का व्रत आसानी से कर सकती है।

कैसे मनाये करवा चौथ ?

करवा चौथ के दिन सभी सुहागन स्त्रियां पुरे दिन निर्जला उपवास रखती है और अपने होने वाले पति या पति की दीर्घायु की कामना करती है। इस दिन महिलाये अपने घर की सुख-समृद्धि और शांति का आशीर्वाद मांगती है। करवा चौथ का पारंपरिक त्यौहार उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, गुजरात और राजस्थान में बड़े हर्षोउल्लास के साथ मनाया जाता है।

इस व्रत को केवल सुहागिन स्त्रियां ही करती है। इस दिन महिलाएं भगवन शिव और देवी पार्वती की पूजा करती है। इसके अलावा वे अपने हाथो में मेहंदी लगाती है और चंद्र देव की भी पूजा करती है।

अपनी पहली करवा चौथ पर क्या करे?

पहला करवा चौथ हर सुहागन/विवाहिता स्त्री के लिए महत्वपूर्ण होता है। करवा चौथ के दिन नवविवाहित अपना शादी का जोड़ा, गहने और विशेष मेकअप करती है। नवविवाहित स्त्री की सास उसके साथ उसके पहले करवा चौथ की तैयारियां करवाती है और उसके लिए विशेष व्यंजन बनाती है। सरगी करवा चौथ का सबसे महत्वपूर्ण भाग होता है। इसमें फेनी (दूध और सूजी से बनी मिठाई), परांठा और विभिन्न तरह के फल और मिठाईया होती है।

इसके बाद सास अपनी बहु को उपहार देती है जो गहने, कपडे या कुछ भी हो सकता है। पहले सरगी की ही तरह एक और परंपरा है जिसे बाया कहा जाता है। बाया एक उपहार होता है जो बहु के परिवारवाले उसकी सास को देते है। इन सभी में सबसे महत्वपूर्ण होता है पति द्वारा दिया गया उपहार। पुरे fake ray bans दिन व्रत-उपवास करने के बाद, परंपरा अनुसार सभी करवा चौथ की कथा सुनती है। उसके बाद रात्रि में चन्द्रमा को अर्क देने के बाद ही भोजन-पानी ग्रहण करती है।

 

यदि 2016 में आने वाली करवा चौथ आपकी पहली करवा चौथ है तो निम्न परंपराओं को न भूलें। Karwa Chauth 2016

  • सबसे पहली और महत्वपूर्ण रस्म अपने दोनों हाथो में मेहंदी की होती है। ये सुख और khushi का प्रतीक होती है। कहते है मेहंदी का रंग जितना गाढ़ा होता है उस दम्पति के मध्य भी उतना ही गहरा होता है।
  • करवा चौथ के दिन महिलाओं को बड़ी बिंदी लगाना बहुत जरुरी होता है। इस बिंदी का रंग लाल, मेहरून या पिंक होना चाहिए।
  • व्रत रखने वाली स्त्री को heavy work वाली साड़ी, घाघरा चोली या लहंगा पहनना चाहिए।
  • शाम के समय सभी महिलाओं को पूरी तरह सज संवरकर परंपरा अनुसार करवा चौथ व्रत कथा के साथ सभी रस्म करनी चाहिए।
  • करवा चौथ की पूजा के दौरान, सभी ग्रुप में बैठकर अपनी-अपनी थालिया बदलकर गीत गाती है। ये रिवाज पंजाबियो में विशेष महत्त्व रखता है। ग्रुप की सबसे बड़ी उम्र की स्त्री करवा चौथ की कथा सुनाती है।

एक बात और यदि आपके घर में भी ऊपर बताई गयी विधि अपनायी जाती है तो इसे अपनाये। अन्यथा अपने रस्मो-रिवाज अनुसार करवा चौथ का व्रत करें।

So next time you head to the beach, be on the lookout for the stonefish. He missed his third extra point of the season most in the NFL when he hit the right upright in the third quarter, a miss that Wholesale Jerseys prevented the Vikings from tying the score at 10.. You’d think he wouldn’t get five minutes into his cheap football jerseys first lecture before somebody called him on his bullshit.. Provide the kind of benefits that we intended and we’re confident that cheap football jerseys we’ll get there. It was a take no Cheap Ray Bans prisoners battle of grit and blood, of crunching hits, unconverted third downs and countless punts, with only two offensive touchdowns. You’ll repeat the first stretch, same thing that we did. Steve was never given Cheap mlb Jerseys much of a chance at life until football came along and he is now a step away from going to USC. I opine that KING is now a bargain because of its current low P/E, strong balance sheet, and strong revenue stream. I think the most dramatic leavetakings were those accomplished by athletes who made their ultimate bow a championship. Defenders take at least a split second to analyze the play. The Big League division is composed of players 17 18 years of age, but leagues can include 16 year old players in the Big League division. It’s hard to overstate how these reforms could change some people’s lives. What a comeback year after sitting out due to multiple next surgeries, sitting out all last season. Make the return of pro football here mirror the introduction of pro football here. For a gladiator who died in combat the trainer (lanista) might charge the sponsor of the fatal spectacle up to a hundred times the cost of a gladiator who survived. The National Football League’s first day of free agency started with a bang. This is what I came back for, and I’m thrilled to death to be going back.”. With free shipping, you can get this regularly $149 foosball table delivered to your home or your nearest Target for $90. Analysts had expected regulators to impose consumer protection conditions on the merger if it’s approved. They’re named after the island they live on, because nobody actually knows what they call themselves. Who knew?. The outspoken head coach signed a five year contract, but don’t expect the front office to be that patient: The Bills haven’t been to the playoffs in 17 years, the longest streak in professional sports.. SIEGEL: I’d like you to ask you to on this show, we usually follow the rule that it’s hard enough to get right things that have happened so far, but so we try to stay away from the future. cheap nfl jerseys shop

LEAVE A REPLY